What Is Artificial Intelligence आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है Allinfomationhere.co.in

What Is Artificial Intelligence In Hindi/English आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है? उदाहरण तथा प्रकार

What Is Artificial Intelligence आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है Allinfomationhere.co.in
What Is Artificial Intelligence आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है Allinfomationhere.co.in 

 क्या आप जानते हैं कि कृत्रिम बुद्धिमता या आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या (AI) है? What is Artificial Intelligence In Hindi जबसे कंप्यूटर का आविष्कार हुआ है तब से इंसानों में इसका इस्तेमाल काफी बढ़ा दिया है. वह इन्हें अपने सभी काम करने में लगा देते हैं जिससे हमें उन पर ज्यादा निर्भर रहना पड़ता है.


Do you know what is Artificial (Intelligence or Artificial Intelligence) (AI)? (What is Artificial Intelligence In Hindi) Ever since the invention of computer, its use in humans has increased a lot. They use them to do all their work, due to which we have to depend more on them.


What is Starlink Internet 




इससे उनकी निर्भरता की ज्यादा तेजी से हुई है. मनुष्य ने इन मशीनों की कैपेबिलिटी को काफी हद तक बढ़ा दिया है जैसे कि उनकी स्पीड उनका शायद और उनके कार्य करने की क्षमता जिससे कि यह हमारे काम बहुत ही कम समय में कर सकें और जिससे हमारे समय की बचत होगी


This has led to their dependence more quickly. Humans have increased the capability of these machines to a great extent such as their speed and their ability to do their work so that they can do our work in a very short time and which will save our time.


आपने शायद यह महसूस किया होगा कि जिसे देखो आज आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की बस तारीफ किए जा रहा है. यदि आपको इसकी ज्यादा जानकारी नहीं है तो आपको चिंतित होने की जरूरत नहीं है क्योंकि आज मैं आप लोगों को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है और यह क्यों जरूरी है की जानकारी दूंगा जिससे कि आपके मन में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बारे में जो भी सवाल उठ रहे हैं उनका आपको सही हल मिल जाएगा.


You must have probably felt that today artificial intelligence is being praised only. If you do not know much about it, then you do not need to worry because today I will give information to you people about what is Artificial Intelligence and why it is important so that whatever questions are arising in your mind about Artificial Intelligence. You will get the right solution.


एक नया डोमेन अब आपके सामने आया है जिसे लोग आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के नाम से जानते हैं जो कि मूल रूप से कंप्यूटर साइंस की ही एक ब्रांच है आज इसका मुख्य कार्य यह है कि ऐसे इंटेलिजेंटस मशीन बनाया जाए जो कि मनुष्य के जैसे ही बुद्धिमान हो और जिसके पास अपनी डिसीजन लेने की क्षमता हो इससे यह हमारे कामों को और भी आसान कर देंगे.


A new domain has now appeared in front of you, which people know as Artificial Intelligence, which is basically a branch of computer science, today its main task is to make such intelligent machines that are as intelligent as humans and Whoever has the ability to take his own decision, this will make our work even easier.


तो चलिए बिना देरी किए शुरू करते हैं और जानते हैं कि यह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है और यह हम मनुष्यों के लिए इतना जरूरी क्यों है


So let's start without delay and know what is this artificial intelligence and why it is so important for us humans


आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है?


AI का पूरा नाम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस है जिस का हिंदी अर्थ कृत्रिम बुद्धि या कृत्रिम दिमाग है. यह एक ऐसा सिमुलेशन है जिससे कि मशीनों को इंसानी इंटेलिजेंट दिया जाता है क्या अगर सिंपल शब्दों में कहें तो इसका मतलब है कि मशीनों को ऐसा दिमाग दिया जा रहा है जिससे कि वे मनुष्य की तरह सोच समझ सके.


यह हंसकर कंप्यूटर सिस्टम में ही किया जाता है मैं इस प्रक्रिया में मुख्यता तीन चरण शामिल है और वह है

Learning :- इसके अंतर्गत मशीनों के दिमाग में इंफॉर्मेशन डाला जाता है और उनमें कुछ रूल्स भी सिखाया जाते हैं जिसे भी कि वह उन रूल्स का पालन करके किसी भी दिए गए कार्य को पूरा कर सकें.

Reasoning:- इसके अंदर मशीनों को यह सिखाया जाता है कि वे बनाए गए उन नियमों का पालन करके रिजल्ट की तरफ को अग्रसर हो जिससे कि उन्हें एप्रोक्सीमेट या डेफिनेट कंक्लूजन हासिल हो.

Self-Correction.

अगर हम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की पार्टिकुलर एप्लीकेशन इसमें Expert System, Speech Recognition और Machine Vision शामिल है. AI artificial intelligence को कुछ इस प्रकार बनाया गया है कि वह इंसानों की तरह ही सोच सकें कैसे कोई भी इंसान का दिमाग किसी भी प्रॉब्लम को पहले सीखता है, और फिर उसे प्रोसेस करता है, तय करता है कि क्या करना उचित होगा, और फिर उसे कैसे हल करना है के बारे में सोचता है.


उसी प्रकार आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में मशीनों को भी इंसानी दिमाग की सभी विशेषताएं दी गई हैं जिससे कि मैं और बेहतर काम कर सके.


आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बारे में सबसे पहले jihn McCarthy

ने ही दुनिया को बताया. वह एक अमेरिकी कंप्यूटर साइंटिस्ट थे जिन्होंने सबसे पहले इस टेक्नोलॉजी के बारे में सन 1956 में the Dartmouth Conference मैं बताया.


आज मैं एक पेड़ की तरह बहुत बड़ा हो गया है और सारी रोबोट robotic process automation से actual robotics सभी चीजें उसके अंदर आती हैं पिछले कुछ वर्षों में इसने बहुत पब्लिसिटी हासिल की है क्योंकि इसमें big data और Technology भी शामिल हो चुकी है नसीम इसकी दिन पर दिन बढ़ती हुई स्पीड साइज और variety data of business से बहुत सी कंपनियां इस टेक्नोलॉजी को अपनाना चाहती हैं.


अगर मैं AI की बात करूं तो इसकी मदद से raw data मैं पैटर्न को Identify करना काफी आसान हो गया है वही इंसान द्वारा बहुत गलतियां होती हैं इससे कंपनी बहुत कम समय में अपने डाटा को ऊपर ज्यादा insight प्राप्त होते हैं.


What is Artificial Intelligence?


The full name of AI is Artificial Intelligence, which in Hindi means artificial intelligence or artificial mind. This is such a simulation that machines are given human intelligence, if in simple words, it means that machines are being given such a brain so that they can think like humans.


This is done laughingly in the computer system itself. There are mainly three steps involved in this process and that is

Learning :- Under this, information is put in the mind of machines and some rules are also taught in them, so that they can complete any given task by following those rules.

Reasoning:- In this, the machines are taught that by following those rules made, they move towards the result so that they get an approximate or definite conclusion.

Self-Correction.

If we consider the particular application of Artificial Intelligence, it includes Expert System, Speech Recognition and Machine Vision. AI artificial intelligence is designed in such a way that it can think like humans How any human brain first learns any problem, and then processes it, decides what is appropriate, and then Thinks about how to solve it.


Similarly, in Artificial Intelligence, machines have also been given all the features of the human mind so that I can do better work.


jihn mccarthy was the first to know about artificial intelligence

He told the world. He was an American computer scientist who first told about this technology in 1956 at the Dartmouth Conference.


Today I have become very big like a tree and from all robotic process automation to actual robotics everything comes in it. In the last few years it has gained a lot of publicity because big data and technology have also been included in it Naseem its day. But with the increasing speed, size and variety of data of business, many companies want to adopt this technology.


If I talk about AI, then with the help of this, it has become very easy to identify patterns in raw data, there are many mistakes by humans, due to which the company gets more insight on its data in a very less time.


What is Cryptocurrency 


What is share market 

Artificial Intelligence की Philosophy


जब इंसान कंप्यूटर की असली ताकत की खोज कर रहा था, तब मनुष्य के अधिक जानने की इच्छा ने उसे सोचने पर बाध्य कर दीया, क्या मशीन भी इंसान की सोच सकते हैं? और इसी तरह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंट के डेवलपमेंट की शुरुआत हुई जिसका केवल एक ही उद्देश्य था की एक ऐसी इंटेलिजेंट मशीन की संरचना की जाए जो कि इंसानों की तरह बुद्धिमान हो और हमारी ही तरह सोच सके.


Philosophy of Artificial Intelligence


When man was discovering the real power of computer, then man's desire to know more made him think, can machines also think of humans? And that's how the development of artificial intelligence started, which had only one purpose, to create such an intelligent machine that is intelligent like humans and can think like us.


AI के लक्ष्य

Expert System बनाना :- कुछ ऐसे सिस्टम का बनाना जो कि इंटेलिजेंट Behavior प्रदर्शन कर सकें जोकि Learn कर सकें. Demonstrate, explain और इसके साथ अपने उपभोक्ता को सलाह दे सकें.

मशीन के दिमाग को इंसानी दिमाग की तरह बनाना :- ऐसे सिस्टम को बनाना जो कि इंसान की तरह सीख सोच समझ सके और इंसान की तरह behave कल सके.

• AI goals

Creating Expert System :- To make some such system which can perform Intelligent Behavior which can learn. Demonstrate, explain and with this be able to advise your consumer.

To make machine's brain like human brain: - To make such a system which can learn and understand like a human and can behave like a human.

Artificial Technique क्या है ? What is Artificial Technique


अगर हम असल दुनिया की बात करें तब, ज्ञान की कुछ अजीबोगरीब विशेषताएं हैं.
• इसकी वॉल्यूम बहुत ज्यादा है, या यूं कहें कि अकल्पनीय हैं.
• यह पूरी तरह से Well organized or well formatted नहीं है.
• इसके साथ साथ ही निरंतर बदलता रहता है.


If we talk about the real world, then there are some peculiar characteristics of knowledge.
• Its volume is very high, or rather unimaginable.
• It is not completely well organized or well formatted.
• Simultaneously it changes continuously.


अब बात आती है कि AI टेक्निक क्या है. तो मैं आपको बता दूं कि आर्टिफिशियल टेक्निक एक ऐसी टेक्निक है जिससे कि हम ज्ञान या नॉलेज को ऐसे Organized way मैं रखेंगे जिससे कि हम उसका उपयोग बहुत ही Efficient तरीके से कर सकते हैं जैसे कि


Now it comes to what is AI Technique. So let me tell you that artificial technology is such a technique that we will keep knowledge or knowledge in such an organized way that we can use it in a very efficient way like.


• यह पढ़ने और समझने योग्य होना चाहिए जो लोग इसे Provide करते हैं.
• यह आसानी से Modify करने योग्य होने चाहिए ताकि इसके Errors को आसानी से सही किया जा सके.
• यह बहुत से जगहों में ही यूज़फुल होना चाहिए हालांकि यह incomplete or inaccurate हो.
AI Techniques को अगर कोई Complex Programs के साथ equip किया जाए तो उसकी Speed Of Execution को बहुत हद तक बढ़ाया जा सकता है.


• It should be readable and understandable by the people who provide it.
• It should be easily modifiable so that its errors can be easily corrected.
• It should be useful in many places, although it may be incomplete or inaccurate.
If AI Techniques is equipped with complex programs, then its Speed ​​of Execution can be increased to a great extent.


How To Earn Money By Playing Games 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के प्रकार (Types of artificial intelligence)


Artificial intelligence को बहुत सारे भागों में बांटा जा सकता है किन उनमें से जो सबसे मुख्य हैं वह यह हैं.
• Weak AI
• Strong AI
Artificial intelligence can be divided into many parts, but the most important of them are these.
• Weak AI
• Strong AI
Weak AI
सरकार के AI को Narrow भी कहा जाता है इन AI सिस्टम को कुछ इस प्रकार डिजाइन किया गया है की यह केवल एक Particular task करें. उदाहरण के तौर पर इसमें virtual personal assistant such as apple siri Weak AI का बहुत बढ़िया उदाहरण है..
Weak AI
The AI ​​of the government is also called Narrow, these AI systems have been designed in such a way that it does only one particular task. For example, there is a great example of virtual personal assistant such as apple siri Weak AI in this..
Strong AI
किस प्रकार के आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को जनरल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ही कहा जाता है इस प्रकार के AI सिस्टम में generalized मनुष्य की बुद्धिमता होती है जिससे कि यह समय आने पर अगर इसे कोई मुश्किल काम दिया जाए तो यह उसको हल कर सके.
This type of artificial intelligence is called general artificial intelligence, this type of AI system has the intelligence of a generalized human being so that if the time comes, if it is given a difficult task, then it can solve it.
Turin Test को mathematician Alan Turing द्वारा सन 1950 में बनाया गया था. जिसका इस्तेमाल यह जाने के लिए किया गया था कि कंप्यूटर भी इंसानों की तरह सोच सकते हैं या नहीं.
The Turin Test was created by mathematician Alan Turing in 1950. Which was used to know whether computers can also think like humans.
Atend Hintze, जो कि एक assistant professor भी हैं of integrative biology and computer science and engineering Michigan State University में. उन्होंने ही AI को चार हिस्सों में बांटा था जो कि कुछ इस प्रकार हैं.
Atend Hintze, who is also an assistant professor of integrative biology and computer science and engineering at Michigan State University. He had divided AI into four parts, which are as follows.
Type 1 :- Reactive machines
इसका एक उदाहरण है Deep blue, जो कि एक IBM chess program है और जिसने Garry Kasprow को सन 1990 में हराया था. Deep blue को कुछ इस प्रकार डिजाइन किया गया है कि यह chess board के pieces को Identify हो सकता है और उसके हिसाब से प्रेडिक्शन कर सकते हैं
An example of this is Deep blue, an IBM chess program that defeated Garry Kasprow in 1990. Deep blue is designed in such a way that it can identify the pieces of the chess board and make predictions accordingly.
लेकिन इसकी अपनी कुछ मेमोरी नहीं है जिससे यह अपने past move के बारे में याद नहीं रख सकता जोकि यह फ्यूचर में इस्तेमाल कर सकें. यह possible moves को analyze करता है. इसके खुद की और इसके opponents की. और फिर उसके हिसाब से सबसे बेहतर strategic move का चयन करता है.


But it does not have some memory of its own so that it cannot remember about its past move which it can use in the future. It analyzes the possible moves. of its own and that of its opponents. And then selects the best strategic move accordingly.


डीप ब्लू और Google के AlphaGO को संकीर्ण उद्देश्यों के लिए डिज़ाइन किया गया है और इसे अन्य स्थितियों में आसानी से लागू नहीं किया जा सकता है।


Deep Blue and Google's AlphaGO are designed for narrower purposes and cannot be easily applied in other situations.


Type 2 :- Limited memory

इस प्रकार के आई सिस्टम अपने पिछले अनुभव का इस्तेमाल कर अपने भविष्य के निर्णय को लेते हैं कुछ decision making functions को जो कि autonomous vehicles मैं इस्तेमाल किए जाते हैं उन्हें इसी प्रकार से डिजाइन किया जाता है.


These types of eye systems use their past experience to make their future decisions. Some decision making functions that are used in autonomous vehicles are designed in a similar way.


ऐसे ही ऑब्जरवेशन को इस्तेमाल कर भविष्य में होने वाले हादसों को कुछ हद तक रोका जा सकता है जैसे कि कार को दूसरे लाइन में चेंज करना यह ऑब्जरवेशन परमानेंटली स्टोर नहीं होते.


By using similar observations, future accidents can be prevented to some extent, such as changing the car to another line, these observations are not stored permanently.


Type 3 :- theory of mind

यह एक साइकोलॉजी term है जो एक हाइपोथेटिकल कांसेप्ट है इसमें यह दर्शाता है कि दूसरों का अपना belief Desire and intentions होता है जोकि उनके डिसीजन में इंपैक्ट डालते हैं.

इस प्रकार के AI अभी इस दुनिया में मौजूद नहीं है

This is a psychology term which is a hypothetical concept, in which it shows that others have their own beliefs, desires and intentions that impact their decisions.

This type of AI does not exist in this world yet

Type 4 :- self awareness

इस श्रेणी के अंतर्गत एआई सिस्टम की खुद की सेल्फ अवेयरनेस होती है, अपनी एक consciousness होती है.


Under this category, the AI ​​system has its own self-awareness, it has its own consciousness.


मशीन जिनकी self awareness होती है वह अपने current state को समझते हैं और इसी information का इस्तेमाल कर यह समझते हैं कि दूसरे क्या Feel करते हैं प्रकार के AI अभी दुनिया में मौजूद नहीं है.


Machines who have self-awareness understand their current state and use this information to understand what others feel. This type of AI is not present in the world yet.


AI technologies के उदाहरण ( examples of AI Technologies)


• Automation एक ऐसी प्रक्रिया है जिससे कि सिस्टम और process function को Automatic कर दिया जाता है उदाहरण के तौर पर robotic process automation को programmed किया जाता है ताकि वह high volume repeatable task को आसानी से कर सकें.


• Automation is a process by which system and process functions are automated, for example robotic process automation is programmed so that it can easily perform high volume repeatable tasks.


आरपीए और आईटी ऑटोमेशन में अंतर है की RPA मैं वह circumstances के हिसाब से Adapt होता है वहीं IT Automation में ऐसा नहीं होता है.


The difference between RPA and IT Automation is that in RPA it adapts according to the circumstances, whereas it does not happen in IT Automation.


Machine learning

यह एक ऐसा विज्ञान है मैं कंप्यूटर बिना प्रोग्रामिंग के काम करता है. Deep Learning Machine learning का ही एक भाग है जिसमें predictive analytics को Automation किया जाता है.


It is such a science that computer works without programming. Deep Learning is a part of Machine Learning in which Automation of Predictive Analytics is done.


Machine learning के मुख्यता तीन एल्गोरिथ्म है. Supervised Learning, जहां की डाटा Data Sets को Patterns कहा जाता है और जिससे कि नए data sets को lebel नहीं किया जाता बल्कि उन्हें sort किया जाता है इनकी समानता और असमानता के आधार पर.


There are mainly three algorithms of machine learning. Supervised learning, where data sets are called patterns and so that new data sets are not labeled but sorted on the basis of their similarity and dissimilarity.


तीसरा है Reinforcement learning जहां पर data sets को label नहीं किया जाता पर कुछ actions और ज्यादा actions करने के बाद AI System को फीडबैक दिया जाता है.


The third is Reinforcement learning where data sets are not labeled but after taking some actions and more actions, feedback is given to the AI ​​system.


Machine vision एक ऐसा विज्ञान है जिसकी मदद से हम कंप्यूटर को देखने के काबिल कर सकते हैं मशीन vision में कंप्यूटर visual informations को कैमरा की मदद से capture करती है और एनालाइज करती है इसके साथ-साथ Analog-to-digital conversation और डिजिटल सिग्नल भी करती है


• Machine vision is a science with the help of which we can see the computer. In machine vision, the computer captures and analyzes visual information with the help of a camera, along with analog-to-digital conversation and digital signal. also does.


इसकी तुलना इंसानों की आंख से भी की जा सकती है. लेकिन Machine Vision की कोई Limitation नहीं है और यह दीवारों के आर-पार देख सकते हैं इसीलिए इनका काफी इस्तेमाल Medical Field में भी होता है.


It can also be compared with the human eye. But there is no limitation of Machine Vision and it can see through walls, that is why they are used a lot in the medical field as well.


Natural Language Processing (NLP)

एक ऐसा process है जिसमें कंप्यूटर प्रोग्राम की मदद से किसी भी इंसानी भाषा को machine के द्वारा समझा जा सकता है


It is a process in which any human language can be understood by a machine with the help of a computer program.


उदाहरण के तौर पर आप Spam Direction को ही ले सकते हैं जिससे कि कंप्यूटर का प्रोग्राम यह समझ लेता है कि कौन से Text original email है और कौन सी Spam Detection है NLP के कामों में मुख्यता Text translation, sentiment analysis and Speech Recognition.


For example, you can take Spam Direction, so that the computer program understands which text is the original email and which is Spam Detection, mainly in the works of NLP Text translation, sentiment analysis and Speech Recognition.


Pattern recognition

एक ऐसा Branch है Machine learning का जो कि डाटा मैं Patterns को Identify करता है और जिसका इस्तेमाल बाद में Data Analysis में होता है.


One such branch is Machine Learning which identifies Patterns in data and which is later used in Data Analysis.


• Robotics

एक ऐसी फील्ड है जिसमें Robots Design और Manufacturing में ज्यादा फोकस किया जाता है. ऐसे काम जो हम इंसानों के लिए बहुत मुश्किल है वहां पर हम Robots को इस्तेमाल में लाते हैं.


There is a field in which more focus is given in Robots Design and Manufacturing. We use Robots for such tasks which are very difficult for us humans.


क्योंकि वह कठिन से कठिन काम बहुत आसानी से कर लेते हैं और वो भी बिना किसी गलती के. उदाहरण के तौर पर उनका इस्तेमाल Car Production और Assembly line मैं करते हैं.

Because he does the most difficult tasks very easily and that too without any mistake. For example, they are used in Car Production and Assembly Line.


Applications of AI

• AI IN HEALTHCARE

एआई का सबसे बड़ा इस्तेमाल हेल्थ केयर इंडस्ट्री में होता है. यहां सबसे बड़ा चैलेंज है कि हम कैसे पेशेंट्स का बेहतर इस्तेमाल कर सकें और वह भी कम से कम लागत में. इसीलिए अब कंपनियां AI का इस्तेमाल हॉस्पिटल में भी कर रही हैं जिससे कि जल्दी और बेहतर तरीके से मरीजों का इलाज सुचारू रूप से होता है.


The biggest use of AI is in the health care industry. The biggest challenge here is how we can make better use of the patients and that too in the least cost. That is why now companies are also using AI in the hospital so that patients are treated smoothly and in a better way.


ऐसे ही एक बहुत फेमस हेल्थकेयर टेक्नोलॉजी है जिसका नाम IBM Watson है इसके साथ-साथ अब साधारण बीमारियों के लिए भी हेल्थ असिस्टेंट भी आ चुके हैं जिसकी मदद से अब आम लोग भी अपनी बीमारियों का इलाज करा सकते हैं इन सभी मशीनों के इस्तेमाल से अब हेल्थकेयर इंडस्ट्री में एक बहुत बड़ी क्रांति आने वाली है


There is such a very famous healthcare technology, whose name is IBM Watson, along with it, now health assistants have also come for simple diseases, with the help of which common people can also get their diseases treated. A huge revolution is coming in the healthcare industry


• AI IN BUSINESS


Robotics process Automation की मदद से highly Repetitive task को अब मशीनों के द्वारा किया जा सकता है machine learning algorithm को अब Analistic and CRM platform के साथ integrate जा रहा है जिससे कि यह पता चल सके कि कैसे कंपनियां अपने कस्टमर की बेहतर मदद कर रही हैं.


With the help of Robotics Process Automation, Highly Repetitive Tasks Can Now Be Done by Machines The machine learning algorithm is now being integrated with the Analytical and CRM platform to know how companies are helping their customers better. .


Chatbots को वेबसाइट के सामने incorporate जा रहा है ताकि जल्द से जल्द कस्टमर को फिर भी दी जा सके.


Chatbots are being incorporated in front of the website so that they can be given to the customer as soon as possible.


• AI IN EDUCATION

AI की मदद से Automate grading किया जा सकता है जिससे कि शिक्षकों को ज्यादा टाइम मिलता के बच्चों को पढ़ाने के लिए. AI की मदद से कोई भी छात्र अच्छी तरह से Inspect किया जा सकता है क्या उसकी जरूरत है किन-किन सब्जेक्ट में है वह weak है इत्यादि ताकि छात्र के अच्छे से मदद की जाता है.


Automate grading can be done with the help of AI so that teachers get more time to teach children. With the help of AI, any student can be well inspected, whether he needs in which subject he is weak, etc. so that the student is helped well.


आजकल AI Tutors की मदद से पढ़ने वाले बच्चे घर पर ही सभी चीजों का हल ढूंढ लेते हैं इससे उनके पढ़ने में काफी इंटरेस्ट बढ़ रहा है.


Nowadays, children studying with the help of AI Tutors find solutions to all things at home, due to which their interest in reading is increasing a lot.


• AI IN FINANCE

AI से Financial institutions को भी काफी लाभ मिल रहा है क्योंकि कंपनियों को Data Analysis में पहले बहुत पैसा और समय invest करना पड़ता था हम तो अब ऐसा नहीं होता अब तो AI ही सब कुछ बहुत कम समय में क्यों देता है.


Financial institutions are also getting a lot of benefit from AI because companies had to invest a lot of money and time in data analysis earlier, we do not do this now, now why only AI gives everything in a very short time.


• AI IN LAW

पहले document की processing बहुत ही चिंता पैदा करने वाला काम था पर अब यही की मदद से यह document processing बड़ी आसानी से कर दी जाती है इससे काम बड़ी Efficient तरीके से चलता है.


Earlier the processing of the document was a very worrying task, but now with the help of this document processing is done very easily, due to which the work runs in a very efficient way.


• AI IN MANUFACTURING

AI का इस्तेमाल मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री में भी खूब जोरों से है. पहले जिस काम को करने के लिए सैकड़ों लोग लगते थे एक मशीन के जरिए आज वही काम बहुत ही आसानी और अच्छे तरीके से बहुत जल्दी किया जा रहा है.


AI is also widely used in the manufacturing industry. The work which used to take hundreds of people to do earlier, is being done very easily and in a good way, very quickly through a single machine.


• Artificial Intelligence and our future

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल हमारे जीवन में दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है. हम मनुष्य ऐसी मशीनों के ज्यादा के ज्यादा आदि बनते जा रहे हैं. हम अपनी अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को और भी ज्यादा एडवांस और बेहतर बनाने की कोशिश किए जा रहे हैं ताकि यह हमारे मुश्किल से मुश्किल काम आसानी से कर सकें.


The use of artificial intelligence is increasing day by day in our lives. We humans are becoming more and more accustomed to such machines. We are trying to make Artificial Intelligence even more advanced and better to meet our own needs so that it can do our most difficult tasks easily.


ऐसा होना इससे हमारे जाने अनजाने में यह मशीन और भी ज्यादा ताकतवर बनते जा रहे हैं आज इनकी सोचने की शक्ति धीरे-धीरे बढ़ती जा रही है जिससे कि यह किसी भी परिस्थिति में खुद को संभाल सबसे है. जो कि हमारे लिए बिल्कुल अच्छा नहीं है


Because of this, knowingly or unknowingly, these machines are becoming more powerful, today their thinking power is gradually increasing so that it can handle itself in any situation. which is not good for us at all.


वह दिन दूर नहीं जब यह हमारे आदेश का पालन भी ना करें और अपने मन मुताबिक ही काम करें. ऐसे में मनुष्य समाज को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है यह हमारी सभी इंडस्ट्री में अपनी जड़ पहले ही गाड़ चुके हैं और हम जिनके बहुत आदि बन चुके हैं जिससे हमारा काम करने में भी हमें तकलीफ हो रही है.


The day is not far when they do not even follow our orders and work according to their mind. In such a situation, the human society may have to suffer a lot, it has already buried its roots in all our industries and we have become so used to it, due to which we are facing difficulty in doing our work.


सुनने में शायद यह बहुत अजीब लग रहा है लेकिन यह बात 100% सच है. भले ही हम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल अपने जीवन में अच्छे काम करने में करें लेकिन हमें यह बात अपनी ध्यान में रखना बहुत जरूरी है कुछ चीजें जो हमारे कंट्रोल के ऊपर हैं हमें उनकी चाबी को अपने ही पास रखना चाहिए ताकि समय आने पर हम उनका सहयोग सामान को सके


This may sound very strange to hear but it is 100% true. Even if we use Artificial Intelligence to do good work in our life, but it is very important for us to keep this thing in mind, some things which are above our control, we should keep their keys with us so that when the time comes, we can cooperate with them. able to stuff.


आज आपने क्या सीखा


मुझे आशा है कि आज मैंने आपको कृत्रिम बुद्धिमता के बारे में पूरी जानकारी दी है आपको यह जरूर पसंद आई होगी अगर आपको यह पसंद आई हो तो हमारे इस लेख को अपने सोशल मीडिया अकाउंट को शेयर करें और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें ताकि हम ऐसे ही इंफॉर्मेशन वाले लेख आप के लिए लिखते रहें मिलते हैं अगले लेख में


धन्यवाद

what did you learn today


I hope that today I have given you complete information about artificial intelligence, you must have liked it, if you liked it, then share this article on your social media account and share it with your friends so that we Keep writing articles with similar information for you, see you in the next article


Thank you

Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

क्रिप्टो करेंसी क्या है ? what is cryptocurrency ?

What Is Computer Network कंप्यूटर नेटवर्क क्या होता है In English | In Hindi

20 Health And Nutrition Tips / 20 स्वास्थ्य और पोषण युक्तियाँ